Online banking fraud?

Table of Contents

How to protect from online fraud?

आज हम बताएंगे कि आपका मोबाइल कैसे हैक हो सकता है.

How to save your self from fraud

आप अपने मोबाइल को हैक होने से कैसे बचा सकते हो।

online banking fraud ke कुछ स्टेप्स जिनको आप फॉलो कीजिए आपका मोबाइल कभी भी हैक नहीं होगा।

दोस्तों जो भी हल हम यहां आपको बता रहे हैं {online banking fraud} वह बहुत ही साधारण और सिंपल से हैं जिनको आप सब जानते हैं।

 बस आपको अपने जीवन में सावधानी रखनी है और  समाधान का ध्यान रखना है।

आप अपने पैसा और टाइम बचा सकते हो और आपकी चिंता कभी भी नहीं बढ़ेगी ।

How to reset Atm pin of allahabad bank

1. किसी भी अंजान लिंक पर क्लिक ना करे.

   जिस लिंक के बारे अगर हमें जानकारी ना हो तो उस लिंक पर भूलकर भी क्लिक ना करे.

2. किसी भी टॉल फ्री नंबर पर कॉल करने से पहले उस टॉल फ्री नंबर का वेरिफिकेशन कर ले कि सच में कस्टमर केयर का नंबर है कि नहीं।

हम जदया तरह कस्टमर केयर के नंबर गूगल से सर्च करके निकालते हैं, तो सावधान रहें हैं. फ्राड टॉल फ्री नंबर तो नहीं है। हॉल में truecaller जैसे फेमस app का प्रयोग करके एक कस्टमर ने upi किया लेकिन उसका पैसा पहुंचा नहीं technical प्रॉबलम की वजह and तो कस्टमर ने गूगल सर्च करके टॉल फ्री नंबर निकाल truecaller का और कॉल किया कि मेरा पैसा फस गया है . जिस नंबर पर customer ने कॉल किया वो नंबर duplicate fraudulent नंबर था. कस्टमर ने अपनी सभी डिटेल कस्टमर केयर को बता दिया उसने कस्टमर का विश्वास जीत कर के बोला कि आप का पैसा ना  minimum balance कि वजह से ना सेंड नहीं हो पाया,.

आप मिनिमम बैलेंस पूरा कीजिए आपका पैसा सेंड हो जायेगा and कस्टमर ने विश्वास में आकर पैसा दोबारा send किया कस्टमर केयर के बताई डिटेल पर और फिर से उसके पैसे कट गए,

3. कंपनी की वेबसाइट से टॉल फ्री नंबर चेक कर ले.

4.  वेबसाइट खोलने से पहले वेबसाइट का लिंक और https देख ले कि सही है ना वेबसाइट का नाम।

हैकर डुप्लीकेट वेबसाइट बना लेते है और हैकर हैकिंग के लिंक अपलोड कर देते है, जैसे हम वेबसाइट के किसी लिंक पर क्लिक करते हैं, हमारा मोबाइल हैक हो जाता है और हमें पता ही नहीं चलता है.

4. फेसबुक पर इनाम का लिंक भेजकर.

हॉल में दिल्ली के जहांगीर पूरी इलाके के एक युवक को फेसबुक पर 1947  रुपए का इनामी लिंक सेंड करके ठगो ने उससे पांच लाख रुपए उसके खाते से उड़ा दिए,

इनामी राशि के लालच में युवक ने लिंक पर क्लिक किया उसके बाद उसे एक शक्स का  कॉल आया कि आपका ईनाम कंफर्म हो गया, बस आप ना अपनी एटीएम जानकारी ओर पीछे के सीवीवी नंबर बताए, युवक ने एटीएम ओर सीवीवी नंबर बता दिए उसके बाद उसके अकाउंट से 1947 रूपए कट गए,

युवक ने संदेह पर फोन पे पर customer केयर को कॉल किया तो उसका फोन पहले ही हैक हो चुका था तो फोन पे कॉल ना लगकर सीधे ही ठगो के पास कॉल चली गई , ठगो ने बताया कि हमारे server में गड़बड़ी आने कि वजह से ना पैसा कट हो गया है, आप अपनी डिटेल फ़िर बता दीजिए आप का पैसा वापस प्रोसेस कर देते हैं युवक ने फ़िर वापस card ki डिटेल बता दी, ओर उसके खाते से वापस साढ़े चार लाख रुपए कट गए उसके बाद कस्टमर ने बैंक में जाकर अपना खाता बंद करवाया.

तो कैसे हमारा मोबाईल हैक होने के बाद सही नंबर लगाने पर भी ठगो के पास कॉल चला जाता है.

5. इनकम टैक्स के नाम पर ठगी.

Most importantly, आजकल ठगी करने वाले व्यक्ति इनकम टैक्स के नाम पर भी ठगी कर रहे हैं, इसके लिए वो ना इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नाम से मैसेज करते हैं कि आप इनकम टैक्स रिफंड इस अकाउंट में क्रेडिट होगा और मैसेज में गलत अकाउंट नंबर डाल देते हैं

वेरिफाई के लिए क्लिक करे जैसे आप वेरिफिकेशन के लिए क्लिक करते हैं आपके मोबाइल नंबर और अकाउंट नंबर आप एडिट करके सही कर देते हो, आपको पता ही नही चलता है और आपकी डिटेल ठगो के पास चली जाती हैं फ़िर आपकी डिटेल का यूज करके वो उसको अपने हिसाब से मिसयूज करते हैं और आप ठग का शिकार हो जाते हैं.

6. UPI pin शेयर ना करे.

UPI पिन नंबर कभी किसी को भी share ना करे, कहीं बार हम जाने अनजाने में हमारी डिटेल शेयर कर देते हैं तो हैकर उसका मिस यूज करने लग जाते हैं.

7. फ्राड कॉल को कभी अपनी एटीएम कार्ड की डिटेल ना बताए ना ही कभी सीवीवी नंबर बताए.

8. Online banking में अनजाने मेल का रिप्लाई ना करें और मेल पर आए हुए किसी भी लिंक पर क्लिक ना करें.

9.  जब भी ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए लिंक पर क्लिक करें तो लिंक का वेरिफिकेशन कर ले कि लिंक जिससे आपको पेमेंट करना है उसी से लिंक आया या या सही लिंक है, कहीं और से online fraud तो नहीं है।

In conclusion तो हमने देखा कि कैसे आप  की छोटी सी गलती से online banking fraud फ्रॉड का शिकार हम हो सकते हैं। जब भी आप ऑनलाइन पेमेंट किसी को भी अपनी कार्ड की डिटेल और ऑनलाइन बैंकिंग की डिटेल नहीं बताएं जैसे कि आपके कार्ड की डिटेल आपका मोबाइल नंबर आपका एटीएम पिन आपका यूपीआई पिन आपकी मेल आईडी यह सभी भी कभी भी किसी को भी नहीं बताएं।

हमारी एक छोटी सी गलती हमें और हमारे परिवार को आर्थिक रूप से परेशान में में डाल सकती है।

 सावधान रहें चीजों को हमेशा समझने की कोशिश करे।

Categories: Banking

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *